Whatsapp Pink क्या है? | गुलाबी व्हाट्सएप के पीछे है ‘लाल झंडी’, | क्या सच में Whatsapp गुलाबी रंग का हो जाएगा

Whatsapp Pink को लेकर बहुत ज्यादा चर्चा हो रही है, बहुत सारे लोगो को Whatsapp Pink का मेसेज आ रहा है. आखिर क्या है ये Whatsapp Pink? पिंक व्हात्सप्प डाउनलोड करना सही है या गलत? Whatsapp Pink Link क्या है? और क्या सच में Whatsapp गुलाबी रंग का हो जाएगा ये सवाल सभी लोगो को आ रहे है, इस पोस्ट में हम इन सवालों के बारेमे जानेगे.

आजकल बहुत बार Pink Whatsapp को लेकर एक मेसेज व्हात्सप्प पर वायरल हो रहा है, उस मेसेज में आपको एक Link दी ज्याति है जिसके कारण आपके Whatsapp का Colour Pink हो ज्याता है. मगर यह Whatsapp Pink लिंक ओपन करने से पहले आप यह पोस्ट जरुर पढ़े.

Whatsapp Pink क्या है?

Whatsapp Pink क्या है?

कुछ दिनों पहले से ही Whatsapp पर व्हात्सप्प पिंक का मेसेज तेजी से वायरल हो रहा है, लेकिन ये व्हात्सप्प पिंक क्या है? ये लोग अभी तक नही समज पाए है. whatsapp Pink यह एक Virus माना ज्या रहा है, जो की लोगो के मोबाइल का डाटा लिक करता है.

तो आपको बता दू की यह लिंक एक हैकर के और से वायरल की ज्या रही है कृपया आपसे अनुरोध है की आप इस Whatsapp Pink को डाउनलोड या इनस्टॉल बिलकुल भी मत करे. अगर आपने Whatsapp Pink को डाउनलोड किया तो सबसे पहले आपका मोबाइल पूरा हैक हो ज्याता है, जिससे आपके मोबाइल में जो भी डाटा है वह हैकर के पास चला ज्याता है.

सभी लोगो से अनुरोध है की जो Apps Google Play Store और Apple App Store पर मौजूद है सिर्फ उन्ही Apps का इस्तेमाल करे, इतर किसी Links से Download किये गए Apps से आपको नुक्सान हो सकता है.


यह भी पढ़े:-


क्या सच में Whatsapp गुलाबी रंग का हो जाएगा

क्या सच में Whatsapp गुलाबी रंग का हो जाएगा

अपने पसंदी के रंग के चक्कर में आप अपने मोबाइल का यूजर इंटरफ़ेस खो बैठ सकते हो, इसीलिए सावधान हो जाईये अगर Whatsapp Pink का मेसेज दिखे तो कृपया उसे इनस्टॉल न करे इससे आपको बहुत भारी नुक्सान होता है.

आपका Whatsapp का कलर तो नही बदल सकता है मगर आपको बता दू की आपका डाटा हैक होने की पूरी संभावना है तो इन सभी Whatsapp Pink Download, Whatsapp Pink Install, अपने व्हात्सप्प को गुलाबी रंग का करिए. इन सभी वायरल मेसेज से दुरी बनाए रखे.

गुलाबी व्हाट्सएप के पीछे है ‘लाल झंडी’, जानें इसके बारे में

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट Rajshekhar Rajaharia ने ट्वीट करके लोगों को इस स्कैम के बारे में आगाह किया है। उन्होंने कहा है कि इस तरह के मैसेज के साथ मिलने वाले लिंक पर क्लिक ना करें। साइबर स्कैम का यह बहुत ही पुराना तरीका है। इसके जरिए डाटा हैक हो सकता है और आपके फोन में भी हैकर्स को एंट्री मिल सकती है। यहां तक कि हैकर्स आपके फोन में मौजूद सभी डाटा का एक्सेस ले सकते हैं।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के ऐप से आपके फोन में सेंध लग सकते हैं और फोटो, एसएमएस, संपर्क आदि जैसी सूचनाएं चुरायी जा सकती हैं. इस बारे में संपर्क किये जाने पर व्हाट्स ऐप के ने कहा, ‘‘अगर किसी को संदिग्ध संदेश या ई-मेल समेत कोई संदेश आते हैं, उसका जवाब देने से पहले पूरी जांच कर ले और सतर्क रुख अपनाये. व्हाट्सऐप पर हम लोगों को सुझाव देते हैं कि हमने जो सुविधाएं दी हैं, उसका उपयाग करें और हमें रिपोर्ट भेजे, संपर्क के बारे में जानकारी दे या उसे ब्लॉक करे.’’

इसके अलावा आपको बता दें कि इस तरह के तमाम मामलों में यही हुआ है कि हैकर्स इन लिंक के जरिए आपके फोन में कोई APK फाइल इंस्टॉल करवाते हैं और कई बार गूगल फॉर्म में आपसे निजी जानकारी या पासवर्ड भी एंटर करवा लेते हैं। एक बार फोन में एपीके फाइल इंस्टॉल हो जाने के बाद हैकर्स आराम से आपके फोन में अपनी जगह बना सकते हैं और बैकिंग से लेकर तमाम तरह की जानकारी हासिल कर सकते हैं।


यह भी पढ़े:-


Conclusion:

हमने आपको इस पोस्ट में Whatsapp Pink क्या है? | गुलाबी व्हाट्सएप के पीछे है ‘लाल झंडी’, | क्या सच में Whatsapp गुलाबी रंग का हो जाएगा इसके बारेमे बताया है, उम्मीद है की आपको हमारी यह पोस्ट जरुर पसंद आई होंगी.

Leave a Comment