Pin Code Number Kaise Pata Kare

क्या आपको Pin Code और Pin Code Number के बारेमे पता है,अगर नही पता तो आज हम इस पोस्ट में पिन कोड नंबर के बारेमे बात कर रहे है साथ में हम आपको पिन कोड के बारेमे जानकारी देने वाले है और पिन कोड नंबर कैसे पता करें ये बताने ज्या रहे है.

सभी लोग Pin code के बारेमे जानना चाहते है क्युकी आज के ज़माने में पिन कोड की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है. अब ये Pin code Number kya hai? aur Pin Code Number kaise pata kare (पिन कोड नंबर कैसे पता करें) इसके बारेमे आपको बहुत सवाल सताते होंगे. आज सभी सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में मिल जायेंगे.

पिन कोड क्या है? Pin code kya hai

Indian Post Office की और से दिए जाने वाला कोड इसे हम पिन कोड कहते है लेकिन असल में पिन कोड एक 6 अंक का नंबर रहता है जो की आपके जिले या गाँव का होता है.

पिन कोड का फुल फॉर्म पोस्टल इंडेक्स नंबर (Postal Index Number) है. आज ऑनलाइन के जमाने में सबसे ज्यादा आवश्यक वाली कुछ चीज़ है तो वह पिन कोड है, पहले लोग पिन कोड के जरिये एक दुसरे को चिट्ठिया, ख़त लिखते थे. लेकिन इस जमाने में Online Order करने के लिए पिन कोड का उपयोग किया ज्याता है.

आज के युग में बहुत सारे लोगो को अपना पिन कोड क्या है? ये पता नही होता तो हम इस पोस्ट में आपको पिन कोड नंबर कैसे पता करें? ये बताने ज्या रहे है.

ये भी पढ़े:-

Pin Code History (पिन कोड का इतिहास)

पिन कोड/Pin code Number की शुरुवात भारत में १९७२ से लागु की गयी थी. पिन कोड यह 6 नंबर का रहता है. Pin Code Number का उपयोग Indian Post के द्वारा किया ज्याता है.

भारत में पिन सिस्टिम/कोड १५ अगस्त १९७२ को केंद्र सरकार की और से लागू किया था. Pin Code Number की याचना केंद्रीय संचालय के एक सचिव श्रीराम भीकाजी वेलंकर द्वारा आयोजित की थी.

कई बार लोगो को गलत पता दिया ज्याता था और कई लोगो की चिट्ठिया गलत पते पर जाने वाले नुक्सान को नजर में रखते हुए, भारत में पिन कोड की शुरुवात करने की ठान ली थी. ताकि हर व्यक्ति के एरिया की एक अलग पहचान राखी जाए.

Pin Code Zone

पिन कोड के पुरे भारत में 9 जोन है. जिनमे से 8 जोन क्षेत्रीय जोन है और बाकि 1 जोन indian आर्मी के लिए है. अब हम पिन कोड के जोन डिटेल में देखेंगे.

पिन कोड का पहला नंबर क्षेत्र
1 दिल्ली , हरियाणा , पंजाब , हिमाचल प्रदेश , जम्मू और कश्मीर , लद्दाख , चंडीगढ़
2 उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश
3 राजस्तान, गुजरात, Daman and Diu, दादरा एंड नगर हवेली
4महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़
5तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक
6तमिलनाडु, केरल, पुदुचेरी, लक्षद्वीप
7पश्चिम बंगाल, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, मेघालय, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम, सिक्किम
8बिहार, झारखंड
9सेना डाक सेवा (एपीएस), फील्ड पोस्ट ऑफिस (एफपीओ)

Pin Code Number Structure (पिन कोड नंबर सरंचना)

जैसे की हमने आपको बताया है की अभी ऑनलाइन का जमाना है जब आप कोई भी चीज़ ऑनलाइन आर्डर करते हो तो वह सबसे पहले आपका पता पूछता है, अगर आपको आपका Pin Code Number पता है तो ही आप अपना सही पता बता सकते है.

आप अपना Pin code Number Kaise Pata Kar sakte hai ये हमने आपको निचे डिटेल में बताया है, अब हम Pin code के 6 Number के Structure के बारेमे जानेंगे.

पिन कोड के 6 नंबर में से जो पहला नंबर होता है वो Zone याने राज्य दिखाता है, दूसरा नंबर Sub-zone दिखता है, और तीसरा नंबर जो रहता है वह पहले दो अंको के बिच में जो जिले आते है उन्हें संबोधित करता है, बाकि जो बचे तिन नंबर रहते है वह गाँव शहर और एरिया दिखने के लिए रहते है.

Pin Code Number Example (पिन कोड नंबर उदहारण)

आपको पिन कोड नंबर एकदम आसानी से समजने के लिए एक उदहारण देखते है, जिससे आपको पिन कोड आसानी से समज आएगा.जैसे 444603 यह एक पिन कोड है. अब इसका 6 अंक का स्ट्रक्चर हम निचे निकहते है.

4राज्य /State
4Sub-zone
444जिला/District
603कोई भी एक कॉलोनी/एरिया

Pin Code Number Kaise Pata Kare (पिन कोड कैसे पता करें?)

सभी लोगो को पिन कोड के बारेमे समज में आया होंगा अब आपको Pin Code Number Kaise Pata Kare? (पिन कोड कैसे पता करें?) ये सवाल आता होंगा, तो आपको बता दू की आपको निचे स्टेप्स को फॉलो करना है आसानी से आपको अपना पिन कोड नंबर मिल जाएगा.

Step 1:- सबसे पहले आपको Indiapost.gov.in इस वेबसाइट पर जाना होंगा.

Step 2:- दिए गए लिंक पर जाए वहा आपको एक पेज ओपन होगा.

pin-code-number-search

Step 3:- अब आपको आपका राज्य को चुनना होता है.

Step 4:- ये होने के बाद आपको अपना जिला सेलेक्ट करना पड़ता है.

Step 5:- अगर आपको अपने गाँव के पोस्ट ऑफिस का नाम पता है तो आप वह नाम दे सकते है, या फिर आप list में अपने गाँव का नाम देख सकते है.

इन सभी स्टेप्स को फॉलो करके आप अपना पिन कोड नंबर पता कर सकते है, लेकिन अगर आपको अपने गाँव का नाम पता है तो आप डायरेक्ट Google Search में अपने गाँव का नाम और पिन कोड शब्द डालकर सर्च करे, आपको आपका पिन कोड मिल जाएगा.

अगर आप गाँव में ही रहते हो तो आप अपने गाँव के पोस्ट ऑफिस में जाकर अपने पिन कोड नंबर का पता लगा सकते है इससे आपका काम जल्दी हो जाएगा.

Pin Code Number का महत्त्व क्या है?

हमने आपको Pin Code Number के बारेमे तो बता दिया है, अब Pin code number का महत्त्व क्या है, ये जानना भी जरुरी है. चलिए अब पिन कोड नंबर का महत्त्व जानते है.

  • pin code यह indian post network की unique exclusive delivary post office को दर्शाता है. इससे हमने जो भी चीज़ भेजी है वह सही जगह पर पहुच ज्याति है.
  • पिन कोड के आधार से सभी लोगो के address है, पिन कोड नुबेर की वजह से सभी की चीज़ बराबर पहुच ज्याति है.
  • पिन कोड नंबर की बजे से पोस्टमैन के काम में बहुत ज्यादा आसानी हो गयी है.
  • एक नाम से परेशानी होती थी, लेकिन पिन कोड़ की बजे से यह परेशानी दूर हो गयी है.
  • postak delivary system याने Pin Code Number से ऑनलाइन चीजे बुलाना बहुत ज्यादा आसान हो गया है.

Conclusion:-

हमने आपको उपर पिन कोड के बारेमे बताया है साथ ही हमने आपको पिन कोड का इतिहास और Pin Code Number Kaise Pata Kare (पिन कोड कैसे पता करें?) इसके बारेमे पूरी डिटेल में बताया है. आशा है की आपको सबकुछ समजने में आया होंगा.

आपको उपर दिए पोस्ट में कुछ भी शंका ज्याति है तो आप हमे Contact Us पर जाकर बता सकते है, या फिर हमे कमेंट करके बता सकते है. हम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे,धन्यवाद…

ये भी पढ़े:-

FAQs

Q1. भारत में सबसे पहले पिन कोड की शुरुवात किसने की थी?

Ans:- भारत में सबसे पहले पिन कोड नंबर की शुरुवात Shriram Bhikaji Velankar द्वारा की गई थी.

Q2. भारत में पिन कोड नंबर की शुरुवात कब हुई थी?

Ans:- १५ अगस्त १९७२ में पिन कोड नंबर की शुरुवात हुई थी.

Q3. पिन कोड लिखने से क्या लाभ होता है?

Ans:- पिन कोड से पता आसानी से मिल ज्याता है, साथ ही चीज़े सही जगह पर पहुच्याने में मदत मिलती है.

Q4. भारत में कुल कितने पिन कोड जोन है?

Ans:- भारत में कुल ९ पिन कोड जोन है, इसमें ९ वा जोन सेना डाक सेवा के लिए आरक्षित है.

हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करेंFacebook, Twitter, Linkedin